शार्दुल ठाकुर की शान’दार बल्लेबाजी के बाद साथी खिलाड़ियों ने दिया ‘निकनेम’ शार्दुल ने महान बल्लेबाज का रि’कॉर्ड भी तो’ड़ा।

वो शोले के ठाकुर थे जिन्हे गब्बर को मा’रने के लिए जय वीरू की जरू’रत पड़ी थी लेकिन ये भारतीय टीम का ठाकुर जिसे किसी की जरू’रत नही पड़ती विरो’धी से निपट’ने के लिए अके’ले ही का’फी है भारतीय टीम शार्दुल ठाकुर।

जब चौथे टेस्ट मैच में इंग्लैंड के खि’लाफ भारतीय बल्लेबाजों ने अपने हाथ ख’ड़े कर दिए तब शार्दुल ठाकुर ने आ’कर रन ही नही बनाए बल्कि भारतीय टीम को मुस्कि’ल की घड़ी से भी बा’हर निका’ला और एक बार फिर भारतीय टीम के संक’टमोचन बने शार्दुल ठाकुर ने 36 गेंद पर 7 चौके और 3 ताबड़’तोड़ छक्के की बदौ’लत 57 रन बनाए।

ओर इसी के अपने इस शान’दार अर्धश’तक के साथ उन्होंने दि’ग्गज खिलाड़ी इयान बॉथम को पछा’ड़कर बड़ा रि’कॉर्ड अपने नाम किया शार्दुल के इस प्रद’र्शन से पूरी टीम इंडिया काफी खुश नजर दिखाई दी इतना ही नही साथी खिलाड़ियों ने शार्दुल के प्रद’र्शन के बाद उन्हे एक खा’स नाम दिया और साथ ही उस नाम से शार्दुल को चिढ़ा’या भी।

शार्दुल को मिला न’या नाम “बीफी”

शार्दुल ठाकुर के इस रि’कॉर्ड प्रद’र्शन के बाद उन्होंने बताया कि साथी खिलाड़ी ड्रे’सिंग रू’म में “बीफी” कह’कर बुलाते हैं और उन्होंने इयान बॉथम का रि’कॉर्ड भी तो’ड़ दिया।

शार्दुल ने कहा, ‘मुझे नहीं पता था कि मैंने इयान बॉथम का रि’कॉर्ड तो’ड़ दिया है. टीम के लिए ज’रूरी रन बनाना हमे’शा अ’च्छा लगता है. सभी खिलाड़ी मुझे जरूर इस निक’नेम से बु’लाते थे. इतने ब’ड़े खिलाड़ी के साथ तु’लना हो’ना काफी अच्छी बात है.’ शार्दुल ने बताया कि ऋषभ पंत के आ’उट होने के बा’द मेने तय किया था कि मैं अटै’किंग मू’ड में बल्लेबाजी करूंगा।

शार्दुल ने आगे कहा ‘जब पंत आ’उट हुआ तो मैं जा’नता था कि मुझे ऐसी ही पारी खेलनी होगी और उसके दो ही त’रीके थे, या तो आप धै’र्य रख सकते हैं और रन बनाने के लिए सा’थी पर भ’रोसा कर सकते हैं या इसे हि’ट कर सकते हैं. लेकिन दि’न के अं’त में, आपको रन बना’ने होंगे. मुझे लगता है कि रन ब’नाने का कोई स’ही तरी’का नहीं है. रन तो रन हैं. आज एक ऐसा दिन था जहां मैं ठी’क से गेंद को बल्ले से कने’क्ट कर सकता था. इसलिए मैं रन बनाने पर ज्या’दा ध्या’न दे रहा था.’

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*