बद’माशों के सहारे यूपी चुनाव जीतने की तैयारी?, बीजेपी ने हिस्ट्री’शीटर को बनाया प्रदेश मंत्री

उत्तर प्रदेश में विधान सभा के चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे है। राजनीतिक दलों ने अपने कार्यकर्ताओं को एकजुट कर जिम्मेदारियाँ भी देना शुरू कर दिया है। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) भी अपनी तैयारियों में लगी हुई है। लेकिन बीजेपी द्वारा भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश मंत्री पद पर दी गई ज़िम्मेदारी को लेकर बवाल मचा हुआ है।

दरअसल, बीजेपी द्वारा भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश मंत्री पद पर अरविंद राज त्रिपाठी उर्फ छोटू त्रिपाठी को ज़िम्मेदारी दी है। छोटू त्रिपाठी खुद एक हिस्ट्री’शीटर है। उनके खिलाफ 16 मुकद’मे दर्ज है। इतना ही नहीं छात्र नेता सनी गिल समेत ह’त्या के 2 के’स भी दर्ज हैं। त्रिपाठी के खि’लाफ 2013 में हिस्ट्री’शीट भी खोली गई थी। कानपुर के काकादेव पु’लिस स्टेश’न के एसएचओ कुंज बिहारी मिश्रा ने इस बात की पुष्टि की है।

एसएचओ के मुताबिक, ‘कुछ मामलों में उन पर यूपी गुं’डा एक्ट और गैंग’स्टर्स एक्ट के तहत भी आ’रोप लगाए गए हैं।’ ह’त्या के एक मामले में त्रिपाठी को कोर्ट से सजा भी सुनाई जा चुकी है।  इसके अलावा रंग’दारी मार’पीट के अलावा 2 के’स 7 CLA के दर्ज हैं। यानि कुल मिलकार एक बड़ा आप’राधिक रेकॉर्ड है।

हालांकि छोटू त्रिपाठी ने अपनी सफाई में कहा, विरोधी पार्टियों ने के’स दर्ज करवाए हैं। उन्होने कहा, बीएसपी सरकार में स्थानीय बीएसपी प्रत्याशी के हारने के कारण बीएसपी ने मेरी हिस्ट्री’शीट खुलवाई थी, जबकि मैं इस समय 15 के’स बरी हो चुका हूं, मेरे ऊपर के’स सपा-बसपा सरकार की ताना’शाही में दर्ज हुए थे।

उन्होने ये भी कहा कि मैं डबल एमए B.Ed, एलएलबी हूं। लगातार शिक्षा प्राप्त करता रहा हूं। मुक’दमे होना और राजनीति से प्रेरित होना मुक’दमा अलग चीज है राजनीतिक विद्वेष के चलते मेरे ऊपर मु’कदमे लगाए  गए थे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*