लॉर्ड्स में बुमराह हुए गुम’राह फें’की 13 नो बॉल और डाला 15 मिनट का एक ओवर,जिसे देख इंग्लैंड बोला अपना काम बनता


बूम बूम बुमराह की नो बॉल वाली सम’स्या एक बार फिर उन्हे परे’शान करने लगी है लॉर्ड्स टेस्ट की पहली पारी में बुमराह ने 26 ओवर डाले और 79 रन देकर एक भी विकेट नहीं पाए।

26 ओवर, 79 रन और 0 विकेट… जी हां ये आं’कड़े है लॉर्ड्स टेस्ट की पहली पारी में जसप्रीत बुमराह  के नॉटिंघम में खेले पहले टेस्ट में भारतीय गेंदबाजी का हीरो, क्रिकेट के म’क्का पर आकर जी’रो बन गया. पहले टेस्ट में एक 5 विकेट के कमा’ल के साथ 9 विकेट चट’काने वाले बुमराह दूसरे टेस्ट में खाता भी नहीं खोल सके।

इसलिए वो एक बार फिर चर्चा में हैं. वजह है उनकी  पु’रानी बीमा’री यानी नो बॉल फेंकने की सम’स्या। लॉर्ड्स टेस्ट की पहली पारी में भारतीय गेंदबाजों ने मिल’कर कुल 17 नो बॉल डाले. जिसमे 13  जसप्रीत बुमराह के हि’स्से में आई है इससे पहले एक इनिंग में सबसे ज्यादा 13 नो बॉल ज़हीर खान ने साल 2002 में वेस्टइंडीज के खि’लाफ खेले टेस्ट में डा’ली थी।

इतना ही नही लॉर्ड्स टेस्ट की पहली पारी में 13 नो बॉल में से बुमराह ने 4 नो बॉल तो एक ही ओवर में डाल दी।और ये ओवर 15 मिनट तक चला हालांकि, इसकी वजह सिर्फ बुमराह का नो बॉल डा’लना ही नहीं रहा बल्कि जेम्स एंडरसन का कन’कशन भी रहा.  इंग्लैंड की पारी का ये 126वां ओवर था

बुमराह के ओवर की पहली ही गेंद एंडरसन अपने हेल’मेट पर लगवा बैठे जिसके बाद कन’कशन प्रोटोकॉल के चलते उनकी जां’च की गई, जिसमें काफी वक्त लगा उसके बाद जब एंडरसन जां’च की प्रक्रिया से गुज’रने के बाद लौटे तो शुरू हुआ जसप्रीत बुमराह के नो बॉल का सिल’सिला.

15 मिनट का डाला एक ओवर

बुमराह साहब ने इंग्लैंड की पारी के 126वें ओवर में चौथी 5वीं और दो बार छठी गेंद नो बॉल फेंकी जिसके चलते 3 गेंदों के अंत’राल पर ही उन्होंने चार नो बॉल डाल दी और ओवर में 10 गेंद डालकर ओवर लंबा कर दिया इस ओवर को ख’तम करने में  जसप्रीत बुमराह ने 15 मिनट का समय लिया जिसका खामि’याजा भारत को कई मा’यनों में भुग’तना पड़ सकता है.

बुमराह के 13 नो बॉल से भारतीय टीम को 2 बड़े खामि’याजा भुग’तना पड सकता है।

सबसे पहले इंग्लैंड को 27 रन की लीड मिली अगर ये 17 नो बॉल न होती तो लीड मात्र 10 रन की होती  जो भारत को आगे चलकर भा’री पड़ सकती है।

एक बार फिर से टीम इंडिया के सिर पर स्लो ओवर रेट का जुर्माना लगने और वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की पॉइंट्स टैली में 2 अंक की कटौती का खत’रा मंड’रा सकता है तो वही इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो का मानना है की बुमराह के फेंके 13 नो बॉल से पहली पारी में मिली बढ़त हमारे लिए बड़ा फै’क्टर साबि’त हो सकती है ।

आपको बता दे की भारतीय टीम इस साल 9 टेस्ट में अब तक 89 नो बॉल फेंक चुका है इससे पहले भारतीय टीम ने 89 नो बॉल 48 टेस्ट मैच में फेंकी थी और ये साल 2016 से 2020 के बीच का समय था इन आंकड़ों से साफ है कि हा’ल के दिनों में भारतीय गेंदबाजी की धार बे’शक तेज हुई है पर वो दिशा से भट’कती भी दिखी है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*