इंग्लैंड की टीम में दो अहम खिलाड़ियों की वापसी? भारतीय टीम का सीरीज जीतना हुआ मुस्कील?

 

भारतीय टीम के लिए परेशानी खतम होने का नाम नही ले रही है पहले तो तीसरे टेस्ट में उसे एक पारी 76 रन से हार का सामना करना पड़ा जिससे सीरीज 1 1 की बराबरी पर आ गई है ।

ओर दूसरी तरफ इंग्लैंड के दो चोटिल खिलाड़ी भी टीम में वापसी कर रहे है जिससे भारतीय टीम की परेशानी और बड़ गई है।

आपको बता दे की ओवल में चौथे टेस्ट से पहले उसके दो महारथी खिलाड़ी फिट हो चुके हैं और टीम में शामिल हो गए हैं जिससे इंग्लैंड टीम पहले से मजबूत दिखाई दे रही है जिसके चलते तेज गेंदबाज मार्क वुड और हरफनमौला क्रिस वॉक्स ने चौथे टेस्ट के लिए इंग्लैंड टीम में वापसी की है।

जिसकी जानकारी इंग्लैंड के मुख्य कोच क्रिस सिल्वरवुड ने 29 अगस्त को पत्रकारों से बातचीत के दौरान दी थी उन्होंने कहा कि दोनो खिलाड़ी अब पूरी तरह से फिट हो चुके हैं और भारतीय टीम के खिलाफ 2 सितंबर से शुरू होने वाले चौथे टेस्ट मैच में टीम का हिस्सा होंगे।

बताते चले की लॉर्ड्स में दूसरे टेस्ट में फील्डिंग के दौरान मार्क वुड के अपने दाहिने कंधे में चोट लगवा बैठे थे और वॉक्स एड़ी की चोट से उबर चुके हैं जो उन्हे जुलाई में पाकिस्तान के खिलाफ एकदिवसीय में लगी थी। जिसके बाद से वो टीम से बाहर चल रहे थे।

शुक्रवार को क्रिस वोक्स ने एक घरेलू टी20 मैच भी खेला जिसे देखते हुए इंग्लैंड टीम बेन स्टोक्स व जोफ्रा आर्चर जैसे प्रमुख खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में टीम उनका स्वागत करने के लिए तैयार है।

सिल्वरवुड ने रविवार को कहा था, ‘दोनों खिलाड़ी फिट है. वुड कल सुबह गेंदबाजी कर रहे थे. वह चयन के लिए उपलब्ध रहेंगे. वॉक्स ने भी खेल में वापसी की है तो वह भी चयन के लिए उपलब्ध होंगे.’

वॉक्स के आने से मजबूत होगा इंग्लैंड

वॉक्स और वुड के आने से इंग्लैंड की तेज गेंदबाजी में धार देखने को मिल सकती हैं लीड्स में जेम्स एंडरसन, क्रेग ऑवर्टन, ऑली रॉबिनसन और सैम करन के आगे ही भारत ने घुटने टेक दिए थे ऐसे में वॉक्स का आना इंग्लैंड के ज्यादा बड़ी खबर है. उन्होंने 2018 में सीरीज के दौरान भी भारत का सामना किया था और अच्छा योगदान दिया था. वे अच्छे बल्लेबाज भी हैं.

बटलर आखिरी दो टेस्ट के लिए नही होंगे उपलब्ध

विकेटकीपर-बल्लेबाज जोस बटलर दूसरी बार पापा बनने का सुख प्राप्त करने वाले हैं जिसके लिए वो सीरीज के दो टेस्ट मैच में हिस्सा नही ले पाएंगे जिसके चलते जॉनी बेयरस्टो विकेट कीपिंग की जिम्मेदारी संभलते नजर आएंगे।

कोच ने बेयरस्टो का समर्थन करते हुए कहा, ‘हां, मुझे पूरा विश्वास है कि अगर जॉनी (बेयरस्टो) से पूछा जाए तो वह काम कर सकता है, वह इसके लिए तैयार है. हम पहले ही इस बारे में बातचीत कर चुके हैं. वह ऐसा करके खुश है.’ बटलर के बाहर जाने से इंग्लैंड एक और बल्लेबाज को खिलाने का फैसला कर सकता है. या फिर वह किसी ऑलराउंडर को मौका दे सकता है. ओवल की पिच सपाट रहती हैं. ऐसे में ऑलराउंडर के आने से इंग्लैंड को बैटिंग व बॉलिंग दोनों में फायदा मिलेगा.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*